मां चिंता मत करना मै ठीक हूं: आतंकी अजमल कसाब

शुक्रवार, अगस्त 14, 2009

प्रिय मां
तुम चिंता मत करना मै ठीक हूं। यहां भारत में मेरे भाई लोग मेरी अच्छे से ख्याल रख रहे हैं। मेरी अच्छी ख़ातिरदारी हो रही है। कोई मुझे कुछ नहीं कहता है सब मुझसे अच्छा व्यवहार करते है। मां एक दिन तो मेरे ख़ातिरदारी करवाने की हद तोड़ दी मैने....मैने जेल के अधिकारियों से जेल का खाना नहीं मटन बिरयानी की मांगी पर जज नहीं माना नहीं तो मुझे वो मिल जाती...लेकिन चलो कोई बात नहीं बाकी सब चीज़े तो ठीक है..मुझे किताब मिलती है पढ़ने के लिये वो मेरा टाइम पास नहीं होता जेल में... मेरे रहने की व्यवस्था तो ठीक है लेकिन बाहर नहीं जाने देते यही ग़लत है यहां भारत में...लेकिन यहां मेरे कई दोस्त हो गये हैं जो अलग अलग जुर्म में यहां सज़ा काट रहे हैं..कोई अपनी बीवी के कत्ल में सज़ा काट रहा है तो कोई बलात्कार में जुर्म में लेकिन मज़ा है.. सब मेरे ही भाई है। हर कोई यहां मुझे बडे़ भाई की तरह मानता है क्योंकि मैने बड़ा काम किया था न इसलिये...मां तेरे बेटे ने तेरा और अपने देश का नाम रोशन किया है। लेकिन एक बात गलत है मेरे देश का नाम रोशन नहीं हो रहा है क्योंकि यहां पर तो हर कोई मान रहा है कि मै पाकिस्तानी हूं लेकिन मेरा अपना देश ही ये नहीं मान रहा है कि मै वहां का हूं ये बात रह रह कर मुझे खलती है। वहां का क्या हाल है मां मुझे पता चला है कि आईएसआई ने तुम्हें कहीं छुपा कर रखा है। चलो कोई बात नहीं मां ये तुम्हारी और मेरी सुरक्षा के लिये है मां थोड़ा कोऑपरेट करना उनसे...क्योंकि वो नहीं चाहते कि पाकिस्तान फंस जाये औऱ तुम्हे या मुझे कोई परेशानी न हो। मां तुम तो मुझे कुछ ज्यादा न खिला पाई लेकिन यहां भारत में मेरा वेट पांच किलो बढ़ गया है। मां तुझे तो पता था कि मुझे हार्निया है। लेकिन परेशान मत होना पाकिस्तान में तो मेरा इलाज नहीं हो पाता लेकिन यहां भारत में मेरा ठीक से इलाज चल रहा है और मेरी हालत में सुधार है। मां यहां साफ सुथरा खाना मिलता है..मेरे लिये अलग से खाना बनाने वाला आता है और वो यहीं रहता है..यहां मुझे खतरा है कि कहीं कोई मुझे ज़हर न दे दे खाने में...लेकिन तुम घबराओ मत यहां मैं हाईसिक्योरिटी में हूं मुझे कुछ नहीं होगा। मेरे ऊपर केस चल रहा है लेकिन परेशान मत होना मैं कभी न कभी छूट जाउंगा। यहां का कानून बहुत मददगार है हम जैसों को माफ कर देता है..तुम याद करो... कई अपने साथी पकड़े जाते है तो वो यहीं की जेलों में रहते हैं। बहुत से अपने भाई मिले हैं। मां विश्वास करना कसम से खा खा कर इतने मोटे हो रहे हैं कि बस पूछो मत। मां यहां पर आतंकी घटना वाले ही नहीं... नकली नोट में पकड़े गये..हथियार के साथ पकड़े गये..और आतंकी घटनाओं को अंजाम देने आये बहुत से अपने साथी यहां पर मिले वो सभी मुझसे मिल कर बहुत खुश हुए उनकी आंखों से आंसू आ गये। वो शाबासी दे रहे थे कि तुमने वो कर दिखाया जो हर कोई नहीं कर सकता है और जिसमें हम फेल हो गये थे । उसको तुमने कर दिखाया। मां यहां से मुझे सुनवाई के लिये कोर्ट में ले जाते हैं जज जी मिलने के लिये..बड़े मज़ाकिया है वो मां. अच्छे आदमी है। मै तो उनके साथ बहुत खेल करता हूं लेकिन वो उंची कुर्सी पर बैठते है न मां इसलिये कुछ कहते नहीं है। कभी कभी गुस्सा हो जाते हैं लेकिन चलो ठीक है इसी बहाने कुछ बोलते तो हैं वरना वहां तो सिर्फ वो दुष्ट वकील ही बोलता है.... कहता है कि उसके पास सबूत है कि मै आतंकवादी हूं। मां यहां पर आतंकवादी को गलत नजरों से देखा जाता है अपने देश की तरह नहीं कि हर मोहल्ले में तीन आतंकवादी है। लेकिन तुम चिंता मत करो मां यहां एक नेक बंदा भी वकील है जो कहता है कि वो मुझे बचा लेगा। उसने ही मुझे किताब दिलवाई थी। एक दिन तो मैने राखी बंधवाने की बात कही तो लेकिन कोई बांधने नहीं आया वो बताया है न कि यहां पर आतंकवादी को सही नहीं समझा जाता है। खैर तुम परेशान मत होना मुझे कुछ नहीं होगा मै कुछ सालों बाद छूट जाउंगा। मैंने कहा था न यहां का कानून बहुत मददगार है.. सख्त नहीं है अपने देश की तरह कि सरबजीत को बिना बात के भारतीय होने की वजह से पकड़ रखा है। ठीक है मां अब मैं सोने जा रहा हूं। तुम परेशान मत होना मै ठीक हूं। मै तुम्हे चिट्ठी लिखता रहूंगा। तुम अपना ख्याल रखना मै अपना ख्याल रखुंगा वैसे यहां मेरा ख्याल रखने के लिये बहुत से लोग हैं। खुदा हाफ़िज
तुम्हारा प्यार आतंकी बेटा
आमिर अजमल कसाब

12 टिप्पणियाँ:

गौरव कुमार प्रजापति ने कहा…

भाई गलत बात उस बेचारे से चिढ़ो नहीं बल्कि कुछ ऐसा प्रबंध करो कि उस भाई को अपनी मां को खत नहीं लिखना पडे मतलब उसे एक मोबाइल ही भिजवा दो यार......हा हा हा

एक परदेसी पुत्र का अपनी माँ के नाम लिखा गया पत्र जिसने तो हमें भी भावुक कर डाला:)

भाईजान बहुत बड़ा इमोशनल अत्याचार कर दिया आपने। मैं तो समझा अजमल से मिल लिए हो। कोई चिट्ठी हाथ लग गई है आपके। ...लेकिन क्या लिखते हो। जोरदार प्रस्तुति। एक काम और करो अगला खत दो, तो उसमें टीवी चैनल, लैप्टॉप, वीडियो गेम के जिक्र का चित्र भी खींचना। ...जैसे सींखचों के पीछे सोनी का लैप्टॉप मिला है मां...। उसी से चिट्ठी टाइप कर रहा हंू। ब्लॉगिंग का जमाना है ना मां।

भाई एक व्यवस्था और करो किसी भी तरह। जानता हंू पत्रकार हो, जुगाड़ लगा लोगे। पाकिस्तान के किसी हिंदी ब्लॉगर को पड़तो, तलाशो। उसके जरिए इस चिट्ठी को पढ़वाओ। पाकिस्तान में आपको लोग जल्दी ही जान जाएंगे।

कुल मिलाकर बात खत्म करूं, तो इतना ही कहंूगा बहुत अच्छा लिखा है।

HEY PRABHU YEH TERA PATH ने कहा…

कृष्ण जन्माष्ट्मी व स्‍वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं !!

जय हिन्द!!

भारत मॉ की जय हो!!

आई लव ईण्डियॉ


आभार

मुम्बई-टाईगर
द फोटू गैलेरी
महाप्रेम
माई ब्लोग
SELECTION & COLLECTION

बी. एन. शुक्ल ने कहा…

बहुत खूब! यदि वास्तव में वह पत्र लिखे तो शायद यही लिखता। कुछ भी गलत नही लिखा है। ऐसा ही हो रहा है।

पाकिस्तानी नागरिक ने कहा…

भाई तुमने हमें अच्छी तरह समझा है। हिन्दुस्तानी अच्छे होते हैं। हमारे पाकिस्तान की तरह तुम्हारा हिन्दुस्तान भी जिंदाबाद।

अल्लाह तुमपर रहमत बरसाए

भाई बेनामी पाकिस्तानी नागरिक अपना अकाउंट बताया होता तो मुझे भी धन्यवाद का मौका मिलता। अपने इसी तरीके तुम्हारा स्वागत भी करता पर तुमने मौका नहीं दिया हाहाहाहा

alka sarwat ने कहा…

पाकिस्तानी नागरिक का अकाउंट मिले तो मेरी तरफ से भी धन्यवाद ज्ञापित करना शशांक भाई ,बता देना कि यहाँ एक और कानून चलता है जो सिर्फ उसी को दिखाई देता है जिसके ऊपर लागू किया जाता है ............
वैसे आपने भडास अच्छी निकाली...

पाकिस्तानी नागरिक ने कहा…

298900002678 मेरा अकाउंट नंबर है ICICI बैंक में.
तुरंत धनराशि डालिए, इंतज़ार कर रहा हूं

पाकिस्तानी नागरिक ने कहा…

298900002678 मेरा अकाउंट नंबर है ICICI बैंक में.
तुरंत धनराशि डालिए, इंतज़ार कर रहा हूं

shama ने कहा…

Khushnaseeb hai wo maa,jise apne bete ye khat naseeb hua!

http://shamasansmaran.blogspot.com

is blog pe gar aap mere kuchh bheege bheegese sansmaran padhen to ek aur pahloo nazar aayega.

'aankhen thak na jayen'9 aao laut aao mere ladlon)
"jaa ud jaare panchee"

" royee aankhen magar"

" pyarkee raah dikha duniyako"

http://kavitasbyshama.blogspot.com

http://shama-baagwaanee.blogspot.com

Http://aajtakyahantak-thelightbyalonely path.blogspot.com

shashank ने कहा…

hi....bhaiya....gud afternoon 2 u...m gvng u here my comments on your great views n thoughts....m really inspired by u....2 be very honest..m 100% agree wid u.....bhai,apne kamal kar diya hai.....m very glad 2 read ur all of views.....atlast best of lu ck 4 ur future..........."apka kasab wale or china wale views kafi inspirable the..............."may god bless u always......"

Related Posts with Thumbnails